कभी-कभी पहाड़ों में हिमस्खमलन सिर्फ एक ज़ोरदार आवाज़ से ही शुरू हो जाता है

Tuesday, April 10, 2018

दोस्‍तों,

कुछ अपरिहार्य कारणों से 'आवेग' का प्रकाशन लंबे समय तक बंद रहा। अप्रेल 2018 से इसे दुबारा शुरू किया जा रहा है। पहले 'आवेग' गुड़गांव से निकला करती थी, अब इसे जयपुर से प्रकाशित किया जायेगा  ...

धन्‍यवाद
आवेग टीम  

No comments:

Post a Comment

Most Popular